शराब की बोतलों से बरामद हुई 38 करोड़ की कोकीन, इंदिरा गांधी एयरपोर्ट से केनिया की आरोपी तस्कर हुई गिरफ्तार

इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट से कीनिया की नागरिक हुई गिरफ्तार, वजह जान कर चौंक उठोगे व्हिस्की की बोतलों से 38 करोड़ की कोकीन बरामद हुई है, जिसंकी कीमत अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में आँकी गई है। अदधिस अब्बा से हिंदुस्तान पहुंची थी आरोपी।

इंदिरा गांधी एयरपोर्ट से हैरान कर देने वाला मामला आया सामने, दरअसल इंदिरा गांधी एयरपोर्ट से कीनिया की एक नागरिक भारी कोकीन के साथ पकड़ी गई, बता दें शराब की बोतलों मे भर कर कोकीन हिंदुस्तान लाई गई थी। ग्रीन चैनल से निकल कर अराइवल गेट की तरफ जाते हुए आरोपी को इंटेरसेप्ट किया गया। जिसके बाद सुरक्षा में तैनात सुरक्षा कर्मियों को आरोपी पर शक हुआ और उन्हे आगे जाने से रुका और बैग खंगाला तो बैग में से ब्लैक लेबल की तीन शराब की बोतले बरामद हुई जिनमे से 2537 ग्राम की कोकीन मिली।

बरामद ड्रग्स की कीमत अंतर्राष्ट्रीय बाजार मे 38.05 करोड़ की आँकी गई है। जो की बेहद ही ज्यादा है, हर बोतल से कोकीन बरामद हुई है। हालांकि ये पहली बार नहीं है जब आरोपी इस तरह ड्रग्स हिंदुस्तान में लाई हो बताया जा रहा है की पहले भी कई बार कीनिया की ये आरोपी कीनिया से ड्रग्स तस्कर कर हिंदुस्तान में ला चुकी है।

इसी भी पढे : मशहूर सिंगर,रैपर हनी सिंह को मिली जान से मरने की धमकी, 50 लाख भी मांगे कनाडा में बैठे गोलड़ी बरार का नाम आया सामने

वही दूसरी तरफ, एक और मामले में एक तजानिया के रहने वाले एक शख्स को भी ड्रग्स के साथ पकड़ा गया। वह आरोपी केपसूल में ड्रग्स भरकर अपने पेट में निगलकर हिंदुस्तान में दाखिल हुआ था। बता दें ये जो आरोपी है ये ड्रग्स की दुनिया में सोलोवर के नाम से जाना जाता है युगांडा से वाया दुबई आईजीआई पहुंचा था और वहा से हिंदुस्तान में घुस रहा था, इसके पेट से जो कैप्सूल मिले उन्मे करीब 59 लाख के ड्रग्स बताए जा रहे है।

मशहूर सिंगर,रैपर हनी सिंह को मिली जान से मरने की धमकी, 50 लाख भी मांगे कनाडा में बैठे गोलड़ी बरार का नाम आया सामने

पंजाबी इंडस्ट्री के मशहूर सिन्जर, रैपर हनी सिंह से 50 लाख रुपये मांग हुई है, साथ ही, जान से मरने की धमकी भी दी गई है। बता दें कनाडा में गोलड़ी बरार का नाम सामने आया जो सिद्धू मूसेवाला के कत्ल का मास्टरमाइन्ड था।

फेमस सिंगर हनी सिंह से 50 लाख रुपये की फिरौती मांगी गई है, नहीं देने पर जान से मरने की धमकी मिली है। हनी सिंह ने खुद दिल्ली पुलिस को 19 जून को शिकायत कर बताया की उनके मैनेजर रिहित छाबरा को कनाडा में बैठे गोलड़ी बरार का फोन आया था फोन पर उसने हनी सिंह को जान से मरने की धमकी देते हुए 50 लाख रुपये की मांग भी की। फोन पर मौजूद शख्स ने अपना नाम गोलड़ी बरार बताया था। उसी के बाद हनी सिंह के मैनेजर को विदेश से कई धमकी भरे कॉल और वॉयस नोट आने लग गए। जिसके बाद मैनेजेर ने हनी सिंह को बताया और हनी सिंह बिना किसी देरी के दिल्ली पुलिस को शिकायत दर्ज करा दी। जिसके बाद दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल हरकत में आई और आईपीसी धारा 387,506 के तहत मामला दर्ज कर जांच में जुट गई।

जानिए पूरा मामला

दरअसल हनी सिंह और उसके मैनेजर, हाल में संसद प्रवेश शर्मा के साथ दिल्ली पुलिस कमिश्नर संजय अरोड़ा और स्पेशल सेल के कमिश्नर एच जी एस धालीवाल से मिले और उनको पूरे मामले की जानकारी दी। पुलिस के मुताबिक हनी सिंह धमकी वाले कॉल से काफी डरे हुए थे। उन्होंने पुलिस को कहा की वो और उनका परिवार कॉल के बाद से काफी डर गए है। इसलिए पुलिस प्रशासन हमे बेहद कड़ी सुरक्षा दे।

इसी भी पढे : खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निजजर की कनाडा में गोली मारकर हत्या कर दी गई, इंडिया के टॉप मोस्ट वांटेड लिस्ट में नाम था

इसे पहले सिद्धू मूसेवाला को भी गोलड़ी बरार के कहने से लौरेंस बिश्नोई और उसके गैंग के लोगों ने तबड़तोड़ फ़ाइरिंग कर मौत के घाट उतार दिए था, और अब वही गोलड़ी बरार ने हनी सिंह को भी धमकी भरे कॉल कर दिया जिससे हनी सिंह और उनका परिवार पहले ही डर गए है।

खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निजजर की कनाडा में गोली मारकर हत्या कर दी गई, इंडिया के टॉप मोस्ट वांटेड लिस्ट में नाम था

खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निजजर की कनाडा में गोली मारकर हत्या कर दी गई- कनाडा मे खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निजजर की गोली मारकर हत्या कर दी गई, इंडिया के टॉप मोस्ट वांटेड लिस्ट मे नाम था शामिल, हालांकि उसे भारत ने हाल में ही घोषित आतंकी घोषित किया था। जबकि एनआईए ने उस पर 10 लाख के इनाम का ऐलान किया था।

कनाडा से आई बड़ी खबर, कनाडा मे रह रहे खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निजजर की कनाडा मे गोली मारकर हत्या कर दी गई। जबकि भारत ने हाल मे ही उसे डेजीनगनेटेड आतंकी किया था। साथ ही, हाल मे ही भारत ने 41 टॉप मोस्ट वांटेड आतंकियों की लिस्ट जारी की थी। जिसमें खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निजजर का नाम शामिल था।

जानकारी मिली है की, हरदीप निजजर को कनाडा के Surrey में गोली मारी गई थी, जिसके बाद मौके पर ही उसकी मौत हो गई। आपको बता दें हरदीप निजजर कनाडा के सिख संगठन सींख फॉर जस्टिस से जुड़ा हुआ था। हालांकि वह पंजाब के जालंधर जिले का रहने वाला था। बेरहाल भारतीय जांच एजेंसिया कनाडा की जांच एजेंसिया से हरदीप की हत्या को लेकर तमाम जानकारी ले रही है।

भारतीय एजेंसी के लिए क्यों जरूरी था हरदीप निजजर?

भारतीय खुफिया एजेंसी ई=के लिए हरदीप निजजर को पकड़ना इसलिए जरूरी था क्योंकि वह कई सालों से कनाडा में रह रहा था, और वह रह कर भारत के खिलाफ खालिस्तानी आतंकवाद को बढ़ावा को दे रहा था।

जबकि पिछले एक साल मे तो वह और भी ज्यादा सिरदर्द इसलिए बन गया था क्योंकि वह कनाडा में रहते हुए लौरेंस बिश्नोई गैंग के गुर्गों के लिए हथयार और पैसे का इंतजाम करवाता था।

जिसके चलते भारत सरकार ने उसे अभी कुछ दिन पहले ही खालिस्तानी आतंकवाद घोषित किया। हालांकि हरदीप निजजर के दो सहयोगीयों को गिरफ्तार किया था जिसमे से एक फिलीपींस से गिरफ्तार हुआ और दूसरा मलेशिया से हिरासत मे लिया गया था।

इसे भी पढे :आरकेपुरम में देर रात दो घुटों की लड़ाई में दो महिलाओ की हुई मौत, सरेआम गोलीबारी का वीडियो आया सामने

पुजारी मर्डर केस में भी हरदीप निजजर का नाम था शामिल

पिछले साल 2022 में रह रहे जालंधर मे हिन्दू पुजारी की हत्या की साजिश रचने और हत्या करवाने के आरोप में राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने कनाडा में भागने वाले खालिस्तानी आतंकी हरदीप निजजर के ऊपर 10 लाख का इनाम घोषित किया था। दरअसल एनआईए के मुताबिक, हिन्दू पुजारी की हत्या की साजिश खलिस्ताँ टाइगर फोर्स केटीएफ ने रजी थी और हरदीप निजजर उस संगठन का प्रमुख था।

आरकेपुरम में देर रात दो घुटों की लड़ाई में दो महिलाओ की हुई मौत, सरेआम गोलीबारी का वीडियो आया सामने

राजधानी दिल्ली के आरके पुरम मे देर रात दो घुटो के बीच ताबड़तोड़ फ़ाइरिंग हुई। शुरुआती जांच मे पता चला की इस गैंगवार मे दो महिलाओ की घायल हो गई जिसके बाद आनन-फानन में उन्हे अस्पताल मे भर्ती कराया गया लेकिन अस्पताल मे उनकी मौत हो गई।

भारत की राजधानी दिल्ली के आरकेपुरम इलाके मे देर रात फ़ाइरिंग की खबर सामने आई है। बता दें , इस गोलीबारी में दो महिलाओ को गोली लग गई। जिसके बाद उन्हे तुरंत अस्पताल में ले जाया गया लेकिन इलाज के दौरान ही दोनों महिलाओ की मौत हो गई। यह घटना आरकेपुरम की अंबेडकर बस्ती की है, इस मामले में दिल्ली पुलिस से में आरोपीसमेत दो और शूटरों को गिरफ्तार किया है, क्योंकि इन्ही पर इल्जाम है की इन्ही दोनों ने फ़ाइरिंग शुरू करी थी।

जानकारी के मुताबिक, पता चला है की साउथ वेस्ट दिल्ली के आरकेपुरम में दो घुटो के आपसी रंजिश के चलते शनिवार देर रात गोलीबारी हुई थी। फ़ाइरिंग का वीडियो का सामने आया। जिसमे साफ देखा जा सकता है की दबंगी किस तरह से फ़ाइरिंग करते नजर आ रहे है। जिसके चलते घटनास्थल पे चीख पुकार मच गई।

इस घटना में दो महिलाओ को गोली लग गई थी। जिसके चलते एक महिला की हालत काफी गंभीर बताई जा रही थी , हालांकि अस्पताल में इलाज के दौरान दोनों ही महिलाओ की मौत हो गई है।

इस मामले मे पुलिस ने अभी तक किसी भी तरह बयान नहीं दिया, जानकारी के मुताबिक पता चला की जिन दोनों महिलाओ की मौत हुई है, वह दोनों रिश्ते मे बहने थी, जिसमे से एक का नाम पिंकी और एक का नाम ज्योति था।

पुलिस ने बताया सुबह पौने पाँच बजे जानकारी मिली

पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया की इस घटना की खबर सुबह करीब 4:45 पे आरकेपुरम थाने थाने मे आई थी। जिसमे सामने वाले ने बताया की आरकेपुरम की अंबेडकर बस्ती में कुछ लोगों ने कॉलर की बहनों को गोली मार दी।

इसी भी पढे :जूनागढ़ में दरगाह को लेकर छिड़ा महासंग्राम , पुलिस पर हुआ हमला, एक शख्स मारा गया

जिसके बाद फौरन पुलिस की टीम घटनास्थल पर पहुंची तो जानकारी मिली की दो बहने पिनकी और ज्योति गोली लग गई है। इसी बीच उन दोनों पीडिता को एसजे अस्पताल मे भर्ती करवाया, लेकिन अस्पताल मे इलाज के दौरान ही दोनों बहनों की मौत हो गई। शुरुआती जांच में पता चला की आरोपी महिलाओ के भाई को मरने आए थे। शुरुआती जांच में मामला रुपयों पैसों के लेनदेन का लग रहा था। हालांकि पुलिस की जांच जारी है।

जूनागढ़ में दरगाह को लेकर छिड़ा महासंग्राम , पुलिस पर हुआ हमला, एक शख्स मारा गया

जूनागढ़ में दरगाह को लेकर छिड़ा महासंग्राम अभी बिपरजॉय तूफान का कहर खत्म हुआ नहीं की, एक और बवाल शुरू हो गया गुजरात के जूनागढ़ में। दरअसल जूनागढ़ के नगर निगम ने जूनागढ़ मे सिथ्त दरगाह को नोटिस भेजा तो लोग भड़क गए और शनिवार शाम लोगों की भीड़ ने पुलिस चौकी पर पत्थरबाजी कर हमला कर दिया। इस घटना में मौके पर 1 डीसीपी समेत जबकि महिला पीएसआई और चार पुलिसकर्मी घायल हो गए।

गुजरात के जूनागढ़ मे एक दरगाह को हटाने के नोटिस को लेकर शनिवार शाम को जूनागढ़ मे बवाल मच गया। तमाम भीड़ एक जुट होकर नारेबाजी करते हुए एक पुलिस चौकी पर पत्थरबाजी कर हमला कर दिया घटना मे एक डीसीपी सहित एसपी महिला और चार पुलिसकर्मी घायल हो गए, इस बीच पुलिस को हमले पर काबू पाने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा साथ ही, टियर गैस छोड़नी पड़ी जिसके चलते 1 शख्स की मौत हो गई।

आपको बता दें जिन लोगों ने दरगाह को लेकर पुलिस चौकी पर हमला किया था उन लोगों को देर रात पुलिस ने गिरफ्तार किया और फिर उसी दरगाह के सामने खड़े कर उनकी बेल्टों से जमकर धुलाई की।

पुलिस ने बताई पूरी कहानी

पुलिस ने जानकारी दी है की अभी फिलहाल हालत काबू मे है। साथ ही, सैकड़ों पुलिसकर्मी पूरे शहर मे छापे छापे पर तैनात कर दिया गए है। इस बीच एसपी रवि शेट्टी ने पूरी जानकारी दी की मजेवड़ी रॉड के पास एक रॉड पर ही दरगाह है जिसको पाँच दिन पहले नगर निगम ने एक नोटिस भेजा था की अगर किसी के पास इसका क्लैम है तो वह जल्द से जल्द कॉर्पोरेशन मे पेश करे। तो इस नोटिस को देख लोग भड़क उठे और शनिवार शाम करीब 500-600 एकट्टे होकर रास्ते को रुक रहे थे इस बीच हमे जानकारी मिली तो पहुंची जिसमे डीसीपी हितेश सहित अन्य चार पुलिसकर्मी भी शामिल थे। जिसके बाद 1 घंटे से भी ज्यादा उन लोगों को समझने की कोशिश की, उसी दौरान किसी ने पत्थरबाजी करते हुए नारेबाजी शुरू कर दी। इसी कारण वश पुलिस को भी जवाबी कारवाही में लाठीचार्ज करनी पड़ी। जबकि अफसोस बात ये है की पत्थरबाजी की इस घटना मे डीसीपी हितेश समेत साथ अन्य पुलिसकर्मी घायल हो गए।

आगे घायल पुलिसकर्मियों की जानकारी देते हुए रवि शेट्टी ने बताया की डीएसपी को चार टांके लगे है, वही 3 पुलिसकर्मी अभी भी घायल है, जबकि 2 पुलिस सिपाही को हल्की चोंटे आई है। रवि शेट्टी ने जानकारी दी की पुलिस ने पूरी तरह उस इलाके मे गश्त की और 174 आरोपियों को हिरासत मे लिया। और अभी वीडियो की जांच कर रहे है फिर और भी आरोपियों को गिरफ्तार करेंगे और अभी फिलहाल हालत काबू में है सैकड़ों पुलिसकर्मी शहर में तैनात कर दिए गए है और वह सब अभी सुरक्षित है। ये एक बेहद ही दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई है जो की नहीं होनी चाहिए थी।

इसे भी पढे :http://बिपरजॉय तूफान से पूरा गुजरात हुआ तहस-नहस, मांडवी मे पेड़ गिरने से हाइवै हुआ जाम, NDRF…. का रेस्क्यू जारी, बिपरजॉय का विकराल रूप

जानिए पूरा मामला

दरअसल गुजरात के जूनागढ़ मे मनेवड़ी गेट के बिल्कुल सामने रास्ते के बीचोंबीच एक दरगाह बनी हुई है। जिसे हटाने के लिए महानगर पालिका की तरफ से सीनियर टाउन प्लैनर ने एक नोटिस जारी कर उनको भेजा था। जिसमे लिखा था की ये धार्मिक स्थल अवैध तरीके बना हुआ है। इसलिए पाँच दिनों के अंदर कानूनी तौर पर इसको सही बना होने के सबूत पेश किए जाए नहीं तो दरगाह को तोड़ दिया जाएगा । इतना ही नहीं इसका खर्च भी आपको देना होगा। नोटिस को पड़ते ही असामाजिक तत्व एक साथ एकट्टे हों के नारे लगाने लगे इस बीच पुलिस ने उनको रुकने की कोशिश तो हिंसक लोगों की भीड़ ने पुलिस पे ही हमला कर दिया।

पुलिस को बनाया निशाना

शाम सात बजे से लोग दरगाह के पास एकट्टा होना शुरू हुए उसके बाद तकरीबन 9 बजे तक 500-600 लोग हो गए और जोरों शोरों से नारे बाजी करने लगे इस बीच जानकारी मिलते ही पुलिस वहा पहुंची और 1 घंटे से अधिक समय तक समझने की कोशिश भी की। लेकिन हिंसक लोग बिल्कुल नहीं माने बल्कि किसी ने नारे लगते हुए पत्थरबाजी शुरू कर दी जिसमे डीएसपी सहित अन्य पुलिसकर्मी भी घायल हो गए हालांकि अब मामला काबू में है और चपे-चपे पे पुलिस तैनात होकर जांच कर रही है।

बिपरजॉय तूफान से पूरा गुजरात हुआ तहस-नहस, मांडवी मे पेड़ गिरने से हाइवै हुआ जाम, NDRF…. का रेस्क्यू जारी, बिपरजॉय का विकराल रूप

बिपरजॉय तूफान से पूरा गुजरात हुआ तहस-नहस – बिपरजॉय तूफान ने अपने रुद्र रूप से पूरे गुजरात को हिला डाला । बिपरजॉय के चलते पूरे गुजरात मे 16 से 17 जून तक भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। इतना ही नहीं 16 जून से सौराष्ट्र, कच्छ, नॉर्थ गुजरात और दक्षिण राजस्थान मे बेहद ज्यादा भीषण बारिश होने की आशंका जताई गई है। जबकि 17 जून से दक्षिणपूर्व राजस्थान और उसके आसपास के इलाकों मे बहुत ही ज्यादा भारी बारिश होने की संभावना जताई जा रही है।

अरब सागर से आए बिपरजॉय चक्रवात तूफान ने गुजरात के काफी जिलों मे तहलका मचा दिया है। आपको बता दें बिपरजॉय तूफान बीते शाम को गुजरात के जखाऊ पोर्ट से टकराया था। जिसने पूरे गुजरात को हिला कर रख दिया चक्रवात तूफान के टकराने से राज्य मे हंवाओ ने 115-125 किलोमीटर की रफ्तार से अपना तांडव दिखाया। उस दौरान राज्य मे भारी बारिश भी बरस रही थी।

चक्रवर्ती तूफान के चलते कई लोगों के घर भी समुन्द्र मे बह गए यहा तक की चक्रवात तूफान ने 2 लोगों की जान भी लेली। जबकि 22 लोग घायल बताए जा रहे है। बता दें की तूफान के चलते लोगों का जीवन अस्थ-व्यस्त हो गया। दूसरी तरफ गुजरात के कच्छ जिले मे सैकड़ों पेड़ उखड़ गए, पूरे शहर मे बिजली के कई खंबे टूट चुके है जिसके कारण कई जिलों मे बिजली गुल हो गई है। वही समुन्द्र से जुड़े इलाकों मे पानी भरने से बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए है।

गुजरात के मांडवी जिले मे एनडीएरएफ का रेस्क्यू जारी

गुजरात के मांडवी मे भी तूफान ने हाहाकार मचाया। तूफान से मांडवी मे हजारों-सैकड़ों पेड़ गिर गए, जिसके कारण हाइवै जाम हो गया। यहा तक की मांडवी मे तूफान से कई इलाकों मे पानी भर चुका है। हालांकि एनडीएरएफ की टीम ने रेस्क्यू जारी कर दिया है।

बिपरजॉय ने गुजरात मे कितना नुकसान पहुंचाया

बिपरजॉय तूफान बीते शाम यानी गुरुवार को 6:30 बजे गुजरात के जखाऊ पोर्ट से टकराया। जबकि चक्रवात का पूरा लैंडफॉल रात करीब 12 बजे कच्छ मे हुआ था. उस बीच 115 से 125 प्रति घंटे की रफ्तार से हंवाए चल रही थी जिसके बाद से ही भारी बारिश जारी है।

बिपरजॉय तूफान के लैंडफॉल के बाद से गुजरात के मांडवी जिले मे बिजली गुल हो गई है। दरअसल तेज हवाओ के चलते पूरे शहर के बिजली खंबे टूट गए और उसी के कारण मांडवी जिले मे बिजली गुल हो गई। इतना ही नहीं बल्कि रोड पे कई हजारों-सैकड़ों पेड़ गिरे हुए नजर आए है।

भारी बारिश के चलते बाढ़ की सिथ्ति पैदा हो गई है जिसके कारण 2 लोगों की मौत की खबर सामने आई जबकि 22 लोग घायल बताए जा रहे है। दूसरी तरफ गुजरात के भावनगर मे अपने पशुओ को बचाते समय एक पिता और पुत्र की भी मौत हो गई। दरअसल भारी बारिश और बाढ़ के कारण इनके पशु एक गड्डे मे फंस और उन्हे बचाते समय दोनों ही डूब गए और उनकी मौत हो गई।

गुजरात के राहत आयुक्त आलोक पांडे ने बताया की बिपरजॉय तूफान के चलते करीब 22 लोग घायल हो गए है। हालांकि राहत वाली बात ये है की किसी की भी मौत नहीं हुई है। लेकिन अफसोसनाक बात ये है की 23 पशुओ की तूफान मे जान चली गई । इस बीच करीब 524 पेड़ भी गिर गए है। वही कुछ इलाकों मे खंबे गिर गए है। जिससे 940 गावों की बिजली गुल हो गई है।

इसे भी पढे :आज शाम को बिपरजॉय तूफान टकराएगा गुजरात की सीमा से, कई जिलों मे होने लगा असर, 74 हजार लोगों को हटाया गया, घरों मे घुसने लगा पानी

वही कच्छ जिला कलेक्टर अमित अरोरा का कहना है की हवा काफी तेज रफ्तार से चल रही है, साथ ही, हर तरफ भीषण बारिश ने अपना कहर ढाया हुआ है। हालांकि सिथ्ति फिलहाल नियंत्रण मे है, जिले मे 200 खंबे और 250 पेड़ उखड़ चुके है। वही खबर ये भी है की तहसीलों की 940 गावों मे बिजली जा चुकी है।

आज शाम को बिपरजॉय तूफान टकराएगा गुजरात की सीमा से, कई जिलों मे होने लगा असर, 74 हजार लोगों को हटाया गया, घरों मे घुसने लगा पानी

गुजरात के तटों की तरफ बिपरजॉय चक्रवात तूफान तेज रफ्तार से आगे आ रहा है जो के बेहद ही खतरनाक रूप ले चुका है। बता दें आज शाम को चार से आठ बजे के बीच कच्छ मे सिथ्त जखाऊ मे जमीन से टकराने की पूरी संभावना जताई गई है। वही मौसम विभाग ने इस तूफान से भारी तभाही होने के चेतावनी दी है।

सूत्रों के मुताबिक गुजरात के जूनागढ़ जिले मे चक्रवात बिपरजॉय के कारण समुन्द्र मे बेहद ऊंची लहरे उठती नजर आ रही है। जिसके अलर्ट तटों के नजदीक घरों मे काफी पानी घुस गया है। हालांकि समुन्द्र के पास स्थानीय लोगों को वहा से पहले ही हटा दिया गया हैं। साथ ही, मछुआरों के लिए अलर्ट जारी किया है।

दूसरी तरफ मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया पर भी समुन्द्र की काफी ऊंची लहरे देखने को मिल रही है। जबकि आज शाम तक गुजरात मे बिपरजॉय चक्रवात तूफान के टकराने की पूरी आशंका है। इसी के साथ मुंबई मे भी सुबह 10:30 बजे से हाई टाइड लगा दिया गया है।

मौसम विभाग के महानिदेशक मरत्युन्जय महापात्रा ने बताया की चक्रवात बिपरजॉय तूफान काफी तेज रफ्तार से सौराष्ट्र, कच्छ की तरफ आ रहा है। यह जखाऊ से करीब बस 180 किमी की दूरी पर है। इतना ही नहीं उन्होंने हवाओं की रफ्तार के बारे मे भी बताया उन्होंने बताया की 125-135 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही है। साथ ही उन्होंने जानकारी दी की शाम तक गुजरात के तट पर पहुँच जाएगा। हालांकि स्थनीय लोगों को किसी महफ़ूस जगह पर भेज दिया गया है। आगे उन्होंने बताया की चक्रवात बिपरजॉय तूफान बेहद ही खतरनाक है। इस तूफान से छोटे पेड़, चोटर मकान, टीन के घर मिटे के मकान सब तहस नहस हो सकते है।

गुजरात के राहत आयुक्त पांडे ने बताया की तटीय इलाकों से लोगों को निकलने की प्रक्रिय बुधवार सुबह तक पूरी करली गई थी। 74,000 से अधिक लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचा दिया गया है।

सूत्रों से जानकारी मिली है की पाकिस्तान में भी बिपरजॉय तूफान का खतरा बना हुआ है। मौसम विभाग के मुताबिक आज सिंध के केटी बंदर से चक्रवात बिपरजॉय टकरा सकता है।

वही गुजरात के द्वारका मे भी बिपरजॉय का खौफ बना हुआ है। वहा से जानकारी मिली है की बिपरजॉय चक्रवात तूफान के चलते द्वारिकधीश मंदिर को आज बंद कर दिया गया है। इसकेअलावा गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल ने समीक्षा बैठक की।

इसे भी पढे : बिपरजॉय के चलते मुंबई हवाईअड्डे पर मचा तहलका, कई फ्लाइट हुई रद्द

गुजरात मे चक्रवात बिपरजॉय के प्रभाव से मांडवी में भी समुन्द्र की ऊंची लहरे उठ रही है । वही अमृतसर के कई हिस्सों मे उला के साथ भीषण बारिश हो रही है।

बिपरजॉय के चलते मुंबई हवाईअड्डे पर मचा तहलका, कई फ्लाइट हुई रद्द

बिपरजॉय तूफान का प्रभाव मुंबई मे दिखाना शुरू हो गया है। आपको बता दें बिपरजॉय तूफान 15 जून को दोपहर के आसपास कच्छ – सौराष्ट्र समेत इसी सटे पाकिस्तान के कुछ इलाकों के तटों पर टकराएगा। हालांकि चक्रवती तूफान के झटके मुंबई मे देखने शुरू भी हो गए है। कई उड़ाने रद्द करनी पड़ी है।

बेहद ही खतरनाक चक्रवात तूफान बिपरजॉय का प्रभाव मुंबई मे देखने को मिला है। बीती शाम मुंबई में खराब मौसम के कारण कई उड़ानों को रद्द किया गया था। भारी बारिश और तेज हवाओं के कारण मुंबई रुक सी गई है। इतना ही नहीं, मुंबई के हवाईअड्डों पर तूफान के कारण हड़कंप मच गया था। बतादें कई यात्री अपनी फ्लाइट का इंतजार कर रहे थे, जबकि कई उड़ाने रद्द भी हुई है साथ ही, कुछ फ्लाइट की लैन्डिंग रद्द करनी पड़ी।

एयर ट्वीट किया है, की खराब मौसम के चलते मुंबई की कई उड़ानों को रुका गया है। जबकि रनवे 09/27 के अस्थायी रूप से बंद होने के साथ हमारे नियत्रण से दूर अन्य परिणामी कारकों को परिणामस्वरूप हमारी कुछ उड़ानों को रद्द किया गया जबकि कुछ मे देरी हो गई है। इसी के साथ उन्होंने ये भी कहा की हमारे मेहमानों के साथ हुई असुविधा के लिए हमे खेद है।

इसे भी पढे : लेडीज रेसलर्स को अपने पास दिल्ली-लखनऊ की कोठी पर बुलाते थे, बृजभूषण के खिलाफ एक और बड़ी गवाही सामने आई

उस दौरान मुंबई एयरपोर्ट पर लोग बेहद परेशान नजर आए। जबकि कुछ यात्रियों ने असुविधा होने का ट्वीटर पर कम्प्लैन्ट करी।

लेडीज रेसलर्स को अपने पास दिल्ली-लखनऊ की कोठी पर बुलाते थे, बृजभूषण के खिलाफ एक और बड़ी गवाही सामने आई

लेडीज रेसलर्स को अपने पास दिल्ली-लखनऊ की कोठी पर बुलाते थे,- लोक सभा के मेम्बर बृजभूषण सिंह के खिलाफ एक और बड़ी बात आई सामने। बतादे पहलवानों ने लगाया आरोप की बृजभूषण लेडीज रेसलर्स को अपने दिल्ली और लखनऊ की कोठी पर बुलाया करते थे। इस बात का खुलासा किया है फिजियोथेरेपिस्ट परमजीत मालिक ने।

बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ एक और बड़ा खुलासा सामने आया है, रेफरी के बाद अब फिजियोथेरिपिस्ट ने किया बड़ा खुलासा उनका कहना है की बृजभूषण अक्सर दिल्ली और लखनऊ की कोठी पर लेडीज रेसलर्स को बुलाके उनका मानसिक और शारीरिक शोषण करता था।

अक्सर अपनी दिल्ली और लखनऊ की कोठी लेडीज रेसलर्स को बुलाता। अगर कोई लड़की मना कर दे तो उनको मैच खेलने से रुकवा देते थे। जिसके चलते कई महिलाओ को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था।

फिजियोथेरिपिस्ट परमजीत ने बृजभूषन के खिलाफ दी बड़ी गवाई

सोपर्ट्स से जुड़े परमजीत मालिक जो की कई सालों से फिजियोथेरिपिस्ट है उन्होंने भी बृजभूषण के खिलाफ दी बड़ी गवाई। आपको बता दें उनकी कही गई बात 100 प्रतिशत सच बताई जा रही है। उन्होंने दावा करते हुए कहा की कई सालों से महिला पहलवानों के साथ शोषण हो रहा है। काफी लड़कियों ने परमजीत को बृजभूषण सिंह के खिलाफ महिलाओ से गलत बर्ताव और गलत टच को लेकर शिकायत की है।

हालांकि कल दिल्ली पुलिस ने क्राइम सीन को रिक्रेट किया था और रिकरेयशन बृजभूषण के घर पर हुआ था। जबकि बृजभूषण का कहना है की वो सौ रहे थे। उनको कोई अंदाजा नहीं नहीं है।

रेफरी जगबीर ने भी बताई हकीकत

रेफरी जगबीर का कहना है की बृज भूषण कह रहा है की मुझे कुछ नहीं पता जबकि उनको सब पता है। जब पहलवानों ने बृज भूषण पर आरोप लगाए थे तब उन्होंने कहा था की तारीख बताओ की ऐसा कब हुआ जिसके बाद तारीख भी सामने आ गई थी। जबकि दिल्ली पुलिस ने जिन 125 लोगों के बयान दर्ज किए थे उन्मे से रेफरी जगबीर सिंह भी थे। जिनकी गवाई बेहद अहम थी।

इसे भी पढे : देश मे आ सकता है चक्रवर्ती तूफान बिपरजॉय का बड़ा खतरा, 11 से 14 जून तक हो सकती है भारी बारिश, इन राज्यों मे किया अलर्ट जारी

इंटरनेशनल रेफरी जगबीर सिंह ने खुलासा करते हुए कहा की बृज भूषण सिंह झूठ बोल रहे है। मैंने उनको खुद लेडीज रेसलर्स को गलत तरीके से हाथ लगते हुए देखा है। आगे उन्होंने बताया की मैंने पहली 2013 मे थायलैंड के फ़ोकेट मे उनको महिला रेसलेर को गलत तरीके से टच करते हुए देखा था। उसके बाद अभी हाल मे 2022 मे लखनऊ मे भी एक महिला रेसलेर को गलत तरीके से छूते हुए देखा था।

देश मे आ सकता है चक्रवर्ती तूफान बिपरजॉय का बड़ा खतरा, 11 से 14 जून तक हो सकती है भारी बारिश, इन राज्यों मे किया अलर्ट जारी

अरब के समुन्द्र से आ रहा है चक्रवर्ती तूफान बिपरजॉय। जिसके चलते मौसम विभाग ने आने वाले चार दिनों के लिए केरल, तमिलनाडु, महाराष्ट्र, गुजरात समेत कई अन्य राज्यों मे भारी बारिश होने के लिए अलर्ट जारी किया है।

आपको बता दें की मौसम विभाग ने जानकारी देते हुए बताया की आने वाले चार दिनों मे देश मे बड़ा चक्रवर्ती तूफान आने वाला है। जिसके कारण कई राज्यों मे भारी बारिश हो सकती है। इतना ही नहीं केरल, महाराष्ट्र, के कई बीच पे जाने से लोगों को मना किया गया है। साथ ही, बताया जा रहा की कच्छ और सौरास्तर के तटों पर हवा की गति 35-45 डिग्री से 50 से 60 डिग्री तक बढ़ने की संभावना बताई जा रही है। इसी के साथ, अगले 2 दिन यानी 11 से 12 जून के बीच हवा की गति 65 से 70 प्रति घंटे की रफ्तार से चलेगी जो की 70 किमी प्रति घंटे तक जा सकती है।

मौसम ने आगे बताया की समुन्द्र की स्तिथि 10 जून से खराब होगी उसके बाद करीब 14 जून तक बट से बतार हो जाएगी । चेतावनी देते हुए लोगों को उस दौरान समुन्द्र के आसपास जाने से भी मना किया गया है। मौसम विभाग ने गुजरात, केरल, गोवा, महाराष्ट्र समेत कई अन्य राज्यों मे भारी बारिश होने का अलर्ट जारी किया है।

आने वाले 24 घंटों मे चक्रवर्ती तूफान के तेज होने की दी चेतावनी

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने शनिवार को बताया अगले 24 घंटों के भीतर चक्रवर्ती बिपरजॉय तूफान काफी तेज होने की पूरी उम्मीद है। उनके मुताबिक ये तूफान उतर-उतरपूर्व की और बढ़ेगा। इसी बीच आईएमडी ने ट्वीट कर बताया की पूर्व-मध्य अरब सागर पर बेहद ही गंभीर स्तिथि है जो की अगले 24 घंटों मे उतरपूर्व की और बढ़ सकता है।

चक्रवात बिपरजॉय के चलते, अरब सागर तट पर वलसाड मे तिथल बीच पर काफी ऊंची लहरे देखी गई है। जिसके कारण तिथल बीच को लोगों के लिए 14 जून तक बंद कर दिया गया है।

इसे भी पढे : मृतका ने आरोपी को बता रखा था कपड़ों के मिल का मालिक, एक अनाथ आश्रम मे रहा करती थी सरस्वती वैध

मछुआरों को समुन्द्र मे जाने से मना किया गया

आपको बता दें चक्रवर्ती तूफान के चलते मौसम विभाग ने मछुआरों को भी समुन्द्र मे जाने से रुका है। मौसम विभाग ने कहा की केरल, कर्नाटक और लक्षद्वीप तट से 14 जून तक दूर।

Exit mobile version