वो बेहद खौफ में था जाना भी नहीं चाहता था फिर, टाइटन पनडुब्बी हादसे में मारे गए पिता और बेटे को लेकर परिवार वालों ने किया खुलासा

हाल में एक टाइटन पनडुब्बी अटलांटिक महासागर की गहराइयों में एडवेंचर करने और टाइटैनिक मलबे को देखने गए थे। लेकिन उसे पहले ही समुन्द्र में कुछ दूर जाते ही टाइटन पनडुब्बी में विस्फोट हो गया और मौके पर ही सभी पाँच यात्रियों की मौत हो गई। इस हादसे में पाकिस्तान के बिजनेसमैंन शहजादा दाऊद और उनके बेटे की भी मौत हो गई।

टाइटन नाम के एक पनडुब्बी से पाँच यात्री अटलांटिक महासागर की गहरियों में एडवेंचर करने साथ ही, टाइटैनिक जहाज का मलबा देखने जा रहे थे, की बीच रस्ते में ही इन पाँच यात्रियों की मौत हो गई जिसमे एक पिता और बेटा शामिल थे। जानकारी के लिए बता दें पिता पाकिस्तान के बिजनेसमैंन टाइकून शहजादा दाऊद थे और उनके बेटे सुलेमान दाऊद थे। इन पाँच यात्रियों में सबसे कम उम्र भी सुलेनमान दाऊद की थी सिर्फ 19 साल के ही थे। अब उनकी दर्दनाक मौत हो गई है, जिसके बाद उनके परिवार से उनकी चाची ने बताया की सुलेमान समुन्द्र में जाने से पहले काफी डरा हुआ था वो जाना भी नहीं चाहता था लेकिन वह अपने पिता के कारण इस मुश्किल सफर को तय करने निकला था।

वही अजमेह दाऊद जो की शहजादा की बहन है उन्होंने बताया की शहजादा की उम्र 46 साल थी, साथ ही, बताया की पनडुब्बी के कमांड शिप पोलर प्रिंस के रवाना होने से पहले उन्होंने अपने भतीजे सुलेमान से बात कर उन्हों हिम्मत दी थी।

इसी के साथ, उन्होंने भी बताया की सुलेमान बेहद डरा हुआ था, क्योंकि वह गहरे पानी से वैसे भी डरता था लेकिन सिर्फ अपने पिता के साथ फडर्स दे पर वक्त बिताने और रिश्तों को मजबूत करने के लिए गहरे पानी में उनके साथ चला गया था।

अजमेह ने बताया की, शहजादा को बचपन से ही टाइटैनिक को देखने की इच्छा थी, और वो उसे लाइव देखना चाहते थे। लेकिन उनका भतीजा सुलेमान इस चीज के लिए पूरी तरह से तैयार नहीं था।

ओशनगेट ने यात्रियों की मौत की जानकारी दी

ओशनगेट कॉम्पनी की ये पनडुब्बी रविवार को गायब हुई थी। दरअसल ओशनगेट की पनडुब्बी पानी में जाने के 2 घंटे के अंदर ही इस पनडुब्बी का संपर्क अपने जहाज से टूट गया था। हालांकि इसके बाद अमेरिका ने इस पनडुब्बी को खोजने के लिए बड़े पैमाने में इसका बचाव अभियान भी चलाया लेकिन उस दौरान पनडुब्बी नहीं मिली इसके बाद गुरुवार को पनडुब्बी मलबा मिला जिसके बाद ओशनगेट ने यात्रियों की मौत की पुष्टि कर दी की पांचों यात्रियों की मौत हो गई है।

इस बीच अमेरिका कोस्ट गार्ड ने बताया की पनडुब्बी का मलबा टाइटैनिक जहाज के अगले हिस्से से 1,600 फिट नीचे से मिला, बचाव कार्य में लगे लोगों ने बताया पनडुब्बी का बेहद खतरनाक विस्फोट हुआ था। वही जर्नल ऑफ फिजिक्स: कॉन्फ्रेंस सीरीज के मुताबिक यह विस्फोट काफी तेज और बड़ा हुआ होगा जिससे पनडुब्बी में सवार पांचों यात्रीयो की मौत मौके पर ही हो गई होगी, हालांकि इस बात की जांच अभी की जा रही है की आखिर पनडुब्बी में विस्फोट हुआ किस वजह से।

कौन कौन था सवार पनडुब्बी में

टाइटन पनडुब्बी में कुल पाँच लोग सवार थे जिसमे से पिता और बेटा उनके अलावा ओशनगेट के सीईओ और पनडुब्बी के पायलट स्टॉकटन रश, ब्रिटेन के अरबपति बिजनेसमैंन हमीश हार्डिंग, फ्रेंच एक्सप्लोरर पॉल आनरी नाजेरलेन्ट भी शामिल थे।

इसी भी पढे : टाइटैनिक के मलबे को दिखने गई टीम हुई लापता, पनडुब्बी मे पाँच लोग थे सवार

यह सभी पाँच यात्री 14 अप्रैल 1912 में अटलांटिक महासागर में डूबे टाइटैनिक जहाज का मलबा देखने जा रहे थे, जो की अटलांटिक महासागर में करीब 12,500 फीट नीचे पड़ा हुआ है। जिसमे बहुत लोग दिलचस्पी रखते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Exit mobile version