लंबे समय से कब्ज ने कर रखा है परेशान, बनाइये ये आयुर्वेदिक चूर्ण जल्द मिलेगा आराम

Constipation has been troubling you for a long time, make this Ayurvedic powder and you will get relief soon.आज क दौर में खराब खानपान के चक्कर में अधिकतर लोगों को कब्ज की परेशानी रहती है। जिसके चलते लोग कब्ज से छुटकारा पाने के लिए मार्केट से अलग-अलग दवाइयों क सेवन करते है लेकिन फिर भी उनको कब्ज से निजात नहीं मिलता। बल्कि पाचन क्रिया और भी ज्यादा कमजोर हो जाता है। ऐसे में हम आज आपको एक ऐसे आयुर्वेदिक चूर्ण के बारे में बताने जा रहे है जिसको आप घर पर बनाकर पुरानी से पुरानी कब्ज को भी खत्म कर सकते है। तो आइए जानते है इस चूर्ण के फायदे और इसको इस्तेमाल करने का तरीका।

आजकक्ल लोगों में कब्ज की समस्या काफी आम बात हो गई है जिसके चलते काफी लोग मार्केट से अलग-अलग दवाइयों सहित प्रोडक्ट का इस्तेमाल करते है लेकिन फिर भी वह कब्ज को ठीक नहीं कर पते है। इसके अलावा तमाम तरह कि दवाई लेने से लोगों को पाचन से जुड़ी और भी कई दिककते हो जाती है। लेकिन क्या कभी अपने सोचा है कि तमाम दवाई और प्रोडक्ट लेने के बाद भी कब्ज से पीछा क्यों नहीं छूटता। दरअसल कब्ज होने का कारण, खराब खानपान, बेवक्त खाना, भुनी,तली चीजों का सेवन ज्यादा करना, कम पानी पीना , र्क जगह पर लंबे समय तक बैठे रहना, बिल्कुल भी कसरत और सैर न करना, फाइबर, प्रोटीन की कमी होना इन्ही सब कारणों की वजह से कब्ज हो जाती है और लंबे समय तक रहती है जिसके चलते आप लोग अधिकतर समय परेशान रहते है। आपको बता दें, कब्ज होने पर व्यक्ति का पेट कभी ठीक से साफ नहीं हो पाता जिसके कारण व्यक्ति को बार-बार टॉइलेट जाना पड़ता है लेकिन फिर भी उसका पेट पूरी तरह से साफ नहीं होता। वही कब्ज के कारण पाचन काफी कमजोर हो जाता है जिसकी वजह से पेट में ब्लोटिंग, दर्द जैसी समस्या भी हो जाती है। आपको बता दें, कब्ज धीरे-धीरे आपके स्वस्थ को भी कमजोर करने लग जाता है जिसके कारण आपको कई स्वास्थ्य संबंधित समस्यों का सामना भी करना पढ़ सकता है। इसलिए आप जितना जल्दी हो सके कब्ज को ठीक करीए। वैसे तो मार्केट में कई ऐसे प्रोडक्ट और दवाइया है जिससे आप कब्ज को खत्म कर सकते है लेकिन वो सही है या नहीं उसका कोई प्रमाण नहीं है और अगर है भी तो उनका कोई परमानेंट इलाज नहीं होता है। ऐसे में आप लोग घरेलों उपायों से कब्ज से छुटकारा पा सकते है। जो कि आज हम आपको बताने जा रहे है इस आर्टिकल में एक आयुर्वेदिक चूर्ण के बारे में जो कब्ज को जड़ से खत्म कर सकता है। आपको बस रात को सोने से पहले 1 चम्मच इस चूर्ण को खाना है फिर देखिए चमत्कार। तो आईए जानिए कैसे इस्तेमाल करना है इस चूर्ण को और बनाने का तरीका।

आयुर्वेदिक चूर्ण को बनाने का समान

एलोवेरा का पत्ता

1 चम्मच अजवाइन

1 नींबू

1 चम्मच काला नमक

आयुर्वेदिक चूर्ण को बनाने का तरीका

आयुर्वेदिक चूर्ण को बनाने के लिए सबसे पहले एक एलोवेरा का पत्ता ले और उसको अच्छे से धो ले।

धोने के बाद एलोवेरा पत्ते के छोटे-छोटे टुकड़े कर ले। फिर उसको अच्छे से पानी में मिला ले।

एलोवेरा के पत्तों को मिलाने के बाद अजवाइन को भी पानी से अच्छी तरह साफ करें। और साफ करने के बाद थोड़ी देर के लिए धूप में सूखने के लिए छोड़ दे।

ऐसे ही नींबू को भी धो ले और दो टुकड़ों में कटलें फिर इसी भी धूप में सूखने के लिए रख दें।

इन सभी चीजों को धूप में सूखने के लिए छोड़ दे जब पूरी अच्छी तरह धूप में सुख जाए तो फिर इनको मिक्सी में डालकर बारीक पीस लें।

पीसने के बाद इस मिश्रण में एक चम्मच काला नामक मिलाएं।

इसके बाद अब आपका आयुर्वेदिक चूर्ण पूरी तरह से तैयार हो चुका है।

आयुर्वेदिक चूर्ण तैयार होने के बाद आप इसे किसी एयर टाइट कॉन्टेनर में भरकर रख सकते है।

कैसे करे आयुर्वेदिक चूर्ण का सेवन

कब्ज से राहत पाने इस आयुर्वेदिक चूर्ण को आप रात में 1 चम्मच खा सकते है फिर इस चूर्ण को आपको गरम या गुनगुने पानी से ही करना है। फिर देखिए कितनी जल्द आपको कब्ज से छुटकारा मिलता है।

इसी भी पढे : स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक है ये फल, शरीर में अलग तरह की एनर्जी लेवल को करता है इंक्रीज़, बीमारियों को भी रखता है दूर

Disclaimer : इस आर्टिकल में लिखी तमाम बातें सामान्य जानकारी के लिए है। इसलिए पाठक पहले एक्स्पर्ट्स और डॉक्टर की सलाह जरूर ले। News Or Kami की और से दी गई जानकारी का कोई दावा नहीं किया जा रहा है।

स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक है ये फल, शरीर में अलग तरह की एनर्जी लेवल को करता है इंक्रीज़, बीमारियों को भी रखता है दूर

वैसे तो सभी तरह के फल सेहत के लिए लाभदायक माने जाते है। लेकिन इन्ही फलों में ड्रैगन फल को सबसे ज्यादा लाभदायक माना गया है क्योंकि ड्रैगन फ्रूट में मिनरल्स और कई तरह के विटामिन मौजूद है। साथ ही, ड्रैगन फ्रूट में भरपूर मात्रा में फाइबर भी मौजूद होता है जो कि हमारी सेहत के लिए काफी महत्वपूर्ण होता है। वही अन्य फलों के मुकाबले इस फ्रूट में कैलोरी की मात्रा काफी कम होती है जो कि हमारी सेहत को मोटा नहीं होने देता। इसके अलावा ये फ्रूट हमे तमाम बीमारियों से बचाए रखने में सक्षम है।

आज से ही नहीं बल्कि पुराने कई सालों से फलों का सेवन काफी फायदेमंद माना जाता है। बता दें, हमारे बड़े बुजुर्ग तो ज्यादातर फलों का ही सेवन किया करते थे जिससे वह काफी तंदूरस्त रहते थे। दरअसल, फलों में नेचुरल पुष्क तत्व और भरपूर मात्रा में प्रोटीन होता है जो कि हमें तंदूरस्त रखने में मदद करता है। केला, सेब, आम, अनार और अन्य फल तो अपने रोजाना खाते ही होंगे लेकिन क्या अपने कभी ड्रैगन फ्रूट खाया है अगर नहीं खाया तो जल्द खाना शुरू करिए क्योंकि अगर इस एक फ्रूट को खलोगे तो बाकी अन्य फल जितना प्रोटीन, विटामिन मिल जाएगा। आपको बता दें, इस फ्रूट को बाहर के काफी लोग खाते है और अपनी सेहत को बढ़ाते है। तो आज हम आपको बताने जा रहे है इस ड्रैगन फ्रूट के तमाम फायदे।

इम्यूनिटी को बढ़ता है ड्रैगन फ्रूट

बीमारिया ज्यादा उसी को होती है जिसका इमयुम सिस्टम अच्छा नहीं होता है। ऐसे में आपको अपने इमयुम सिस्टम का पूरी तरह से ध्यान रखना होगा। तो आपको बस दिन में एक बार ड्रैगन फ्रूट का सेवन करना है क्योंकि ड्रैगन फ्रूट में मौजूद विटामिन्स, मिनरल्स, आपके इम्यूनिटी को काफी ज्यादा बढ़ा सकते है जिसके चलते कोई भी बीमारी आपको छू भी नहीं पाएगी।

पेट से जुड़ी हर समस्या से दिलाता है निजात

आपको बता दें, ड्रैगन फ्रूट में डाइटरी फाइबर भरपूर मात्रा में होता है। जिससे पेट की पचाने की शक्ति काफी बढ़ जाती है और आपका पेट अच्छी तरह से साफ होता है। वही, एक्स्पर्ट्स के मुताबिक महिलाओं के लिए रोजाना 25 ग्राम और पुरुषों के लिए 38 ग्राम फाइबर जरूरी है।

इसी भी पढे : लिफ्ट में हो और अचानक लिफ्ट बंद हो जाए तो घबराए नहीं, इन तरीकों से निकले लिफ्ट से बाहर

Disclaimer : इस आर्टिकल में लिखी तमाम बातें सामान्य जानकारी के लिए है। इसलिए पाठक पहले एक्स्पर्ट्स और डॉक्टर की सलाह जरूर ले। News Or Kami की और से दी गई जानकारी का कोई दावा नहीं किया जा रहा है।

जुकाम और बंद नाक से है परेशान, कई दवाईया लेने के बाद भी नहीं मिला आराम, करे ये उपाय जल्द दिखेगा असर

बदलते मौसम में कई लोगों को सर्दी, जुकाम लग जाता है। जिसके चलते काफी लोग वायरल से जूझते है और इसी के कारण बाजारों में कई तरह की अग्रेजी दवाईया लेले ते है लेकिन फिर भी वह दवाईया लेने के बावजूद भी ठीक नहीं होता तो ट्राई करिए कुछ घरेलों उपाय जल्द देखेगा फरक। तो आइए जानते है क्या है वो घरेलों उपाय।

इन दिनों मौसम में बदलाव के कारण काफी लोग सर्दी, जुकाम, बुखार और कफ जैसी समस्यों से जूझते है। हालांकि आपको बता दें, ये बीमारिया सबसे पहले कम इम्यूनिटी वाले लोगों को ज़्यादा पकड़ती है। दरअसल मौसम में बदलाव से सर्दी, जुकाम और गले में खराश पहले लोगों को पकड़ती है। जिसके कारण इन वायरल से परेशान लोग अपनी आप को राहत देने के लिए अंग्रेजी दवाओं का सहारा लेते है। जिसमें कुछ दिन के लिए लोगों को राहत तो मिल जाती है लेकिन इन बीमारियों को लंबे समय तक रोकने में ये अंग्रेजी दवाई कारगर नहीं होती है। ऐसे में लोग और भी ज्यादा परेशान हो जाते है लेकिन आपको अब ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है क्योंकि हम आपको ऐसे घरेलों इलाज के बारे में बताने जा रहे है जिसको अगर अपने कर लिया तो ये बीमारियों आपको होना तो दूर आपके तक पहुँच भी नहीं पाएगी।

अगर जुकाम ज्यादा है तो आप भाप लीजिए

जुकाम, बुखार में कई बार दवाईया खा चुके है लेकिन फिर भी असर नजर नहीं आ रहा तो आप बस दिन में दो बार भाप लीजिए। बता दें, भाप एक ऐसा उपाय है जिसको हमारे कई पूर्वज भी अपनाते थे लेकिन फिर अंग्रेजी दवाओं ने इस घरेलों नुस्खे को गायब कर दिया लेकिन आपको बता दें, कि यही उपाय अगर आप नियमित रूप से दिन में दो बार भी कर लेते है तो आपको मात्र 3 दिन में ही काफी अच्छा लाभ देखने को मिल सकता है। क्योंकि भाप में काफी ज्यादा गरम पानी का इस्तेमाल होता है जो की हमारी लंग्स के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है बता दें, खतरनाक से खतरनाक बंद नाक भी भाप 3 दिन में खोल देता है वही, गले में खराश को भी काफी आराम देता है।

भाप लेनें के क्या है फायदे

भाप लेने से पुराने से पुराने जुकाम, गले की खराश खत्म ह जाती है भाप लेने से सांस की नली क्लीयर हो जाती है। जिसके कारण नायक बंद की प्रॉब्लेम भी ठीक हो जाती है। बता दें, भाप लेने से नींद की क्वालिटी भी अच्छी हो जाती है। जिससे आप सुकून की नींद ले पाते है।

इसी भी पढे : पेट में बार-बार होती है एसिडिटी ?, सुबह खाली पेट पिए इस मसाले का पानी, जल्द मिलेगी राहत

Disclaimer : इस आर्टिकल में लिखी तमाम बातें सामान्य जानकारी के लिए है। इसलिए पाठक पहले एक्स्पर्ट्स और डॉक्टर की सलाह जरूर ले। News Or Kami की और से दी गई जानकारी का कोई दावा नहीं किया जा रहा है।

पेट में बार-बार होती है एसिडिटी ?, सुबह खाली पेट पिए इस मसाले का पानी, जल्द मिलेगी राहत

अपने अक्सर खाने के ऊपर धनिया रखा हुआ देखा होगा क्योंकि ऐसा माना जाता है। कि धनिया खाने के स्वाद को और भी बढ़ा देता है। लेकिन क्या आप जानते है कि अगर आप रोज सुबह खाली पेट धनिये का पानी पीते है तो आपको सेहत को कितना फायदा होगा। तो हम आपको बताते है की अगर आप रोज धनिये का पानी पीते तो आपको क्या क्या फायदे होते है।

दरअसल धनिया सुपेरफ़ूडस में आता जिनमें कई सारे पुष्क तत्व मौजूद होते है। वही, धनिया के बीज और पत्ते भी काफी ज्यादा फायदेमंद होते है और सबसे बड़ी बात इसको बीमार आदमी भी खा सकता है और हस्त पुष्ट आदमी भी हर किसी को इसका फायदा मिलता है। वही, अगर आप रोज सुबह धनिया का पानी पीते है तो आपके पेट से जुड़ी सारी समस्या भी खत्म हो जाएंगी।

एसिडिटी में मिलता है आराम

धनिया का पानी पेट से एसिडिटी को खत्म करने में करता है मदद इसलिए जिन लोगों को हमेशा एसडीटी परेशान करती है उनको रोज सुबह खाली पेट धनिया का पानी पीना चाहिए क्योंकि धनिया का पानी पेट को ठंडा रखता है जिसके चलते आपकी एसडीटी जल्द ही खत्म हो जाएंगी। वही, धनिया का बीज पेट में पैदा होने वाले एसिड को काफी हद तक खत्म कर देता है और पेट में जलन को भी खत्म करता है इसलिए कहा जाता है सुबह खाली पेट पानी पीने चाहिए लेकिन अगर पानी अगर धनिया का हो तो और भी अच्छा होगा।

वजन को रखता नियंत्रण में

अगर आप लोग भी अपने बढ़ते वजन से है परेशान तो धनिया का पानी उसको भी कम करने भी बेहद ही सक्षम होता है, क्योंकि धनिया के बीज में भरपूर मात्रा में फाइबर शामिल होता है जिससे पेट लंबे समय तक भरा रहता है जिससे आपका कुछ भी अनहेल्थी खाने का मन नहीं करता और धनिया का पानी फेट बर्नर प्रोटीन की तरह ही काम करता है।

स्किन से जुड़ी तमाम समस्यों से करता है दूर

आपको जानकार हैरानी होगी लेकिन धनिया का पानी आपकी स्किन के लिए भी काफी लाभदायक है। आज के दौर में इंसान दो ही चीजों से ज्यादा परेशान है एक वजन और दूसरा चेहरा लेकिन धनिया के पानी का एक गिलास ही आपकी इन दोनों प्रॉब्लेम का हाल है। आपको बता दें, धनिया का पानी आपकी स्किन को काफी चमकदार बना देगा साथ ही, तमाम दाग, धब्बों से भी छुटकारा दिला सकता है।

इसी भी पढे : रात को सोने से पहले दाग धब्बों पर लगाए ये तेल, हफ्ते के अंदर दिख जाएंगे लाभ

Disclaimer : इस आर्टिकल में लिखी तमाम बातें सामान्य जानकारी के लिए है। इसलिए पाठक पहले एक्स्पर्ट्स और डॉक्टर की सलाह जरूर ले। News Or Kami की और से दी गई जानकारी का कोई दावा नहीं किया जा रहा है।

रात को सोने से पहले दाग धब्बों पर लगाए ये तेल, हफ्ते के अंदर दिख जाएंगे लाभ

हमारा चेहरा ही हमारी पहचान होता है और ऐसा कहा जाता है, कि चेहरा वो हिस्सा होता है जिसपर सबसे पहले लोगों का ध्यान जाता है। ऐसे में अगर चहरे पर पिंपल्स होते है त हमारा कॉन्फिडेंस लेवल डाउन हो जाता है वही, कई लोग पिंपल्स से छुटकारा पाने के लिए मार्केट से अलग-अलग तरह के प्रोडक्ट खरीद लेते है जिसमें कई बार केमिकल भी मिक्स होते है जिससे पिंपल्स तो हट ते नहीं लेकिन कई अलग दाग धब्बे और आ जाते है ऐसे आप और भी ज्यादा परेशान हो जाते है लेकिन चिंता की बात नहीं आज हम आपको ऐसे उपाय के बारे में बताने जा रहे है जिसमें ना तो आपके ज्यादा पैसे खर्च होंगे और नहीं और साइड इफेक्ट होगा। तो जानिए पूरी जानकारी।

चेहरे पर पिंपल्स और धब्बे होना किसी को ही पसंद होगा लेकिन आजकल भाग-दौड़ भरी जिंदगी में इंसान के खाने पीने पर काफी बुरा प्रभाव पढ़ रहा है वही, मार्केट में इतने तरह के केमिकल को इस्तेमाल करने के कारण इंसानों के चेहरे पर अक्सर पिंपल्स देखने को मिल जाते है। क्या आपके साथ भी ऐसा की जिस दौरान आप घर पर होते है तब आपका चेहरा बिल्कुल साफ-सुथरा रहते है लेकिन जैसे ही आपका किसी फ़ंक्शन या बाहर जाने का प्लान होता है उसी वक्त आपके चेहरे पर पिंपल्स हो जाते है। जो आप अच्छे खासे मूड को खराब कर देता है चलो पिम्पल तो एक बार एक लिए फिर भी चल जाता है लेकिन पिम्पल के सूखने के बाद जो दाग-धब्बे हो जाते है वो ज्यादा तकलीफ देते है क्योंकि वो फिर हमेशा के लिए भी रह सकते है अगर सही वक्त पर उनका इलाज नहीं हुआ तो जिनको देख देख कर आपका कॉन्फिडेंस लेवल भी डाउन होता है।

आपको बता दें, कि आमतौर पर आपको इन पिंपल्स और जिद्दी दागों को हटाने के लिए मार्केट में काफी तरह के प्रोडक्ट मिल सकते लेकिन यह पुख्ता तौर पर नहीं कहा जा सकता कि वह आपके चेहरे को पूरी तरह से साफ करेंगे इसलिए एक्स्पर्ट्स ने एक ऐसा देसी उपाय बताया है जिससे आपके पिंपल्स और दाने हफ्तेभर के अंदर खत्म हो सकते है अगर इसका इस्तेमाल आप नियमित रूप से करे तो हम आपको एक ऐसे तेल के बारे में बताने जा रहे है जो अमूमन आपके घर में ही मिल जाएगा।

नारियल के तेल से 7 दिनों में गायब हो जाएंगे दाग-धब्बे

आपको बता दें, जो तेल बालों के लिए एक चमत्कारी उषाधि माना जाता है वही, तेल आपके स्किन के लिए भी काफी लाभदायिक साबित हो सकता है। एक्स्पर्ट्स के मुताबिक नारियल के तेल में ऐसे कई तत्व मौजूद है जो कि आपकी स्किन से जुड़ी हुई तमाम समस्यों से आपको राहत दिला सकती है। ऐसा कहा जाता है की नारियल का तेल बालों के साथ स्किन की प्रॉब्लेम्स के लिए रामबाण सबित हो सकती है। नारियल तेल में विटामिन ए, विटामिन के और भी कई एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते है। जो आपकी स्किन को चमकदार बनने में मदद करता है। बता दें, अगर आप इसको रोज रात को सोने से पहले यूज करते है तो आपको हफ्ते के अंदर ही इसके पाज़िटिव रिजल्ट देखने को मिल सकते है।

ऐसे करे नारियल के तेल का इस्तेमाल

रात को सोने पहले अपने चेहरे को ठंडे पानी से अच्छी तरह धो ले फिर जहा आपके दाग धब्बे है उधर दाग के हिसाब से हाथ में तेल को ले और फिर उधर अच्छी तरह मसाज करे उसके बाद उस तेल को पूरी सुख जाने दे। आपको बता दें, कि आप उस तेल के साथ नींबू के रस को कुछ बुँदे मिलाकर इसे दाग वाली जगह लगाकर छोड़ दीजिए। अगर आप इस उपाय को रोज करते है तो आपको 7 दिन के अंदर ही फरक दिख जाएगा।

इसी भी पढे : अगर आप भी ज्यादा सोचते है तो हो जाए अलर्ट, वरना इन गंभीर बीमारियों से हो जाओगे ग्रस्त

Disclaimer : इस आर्टिकल में लिखी तमाम बातें सामान्य जानकारी के लिए है। इसलिए पाठक पहले एक्स्पर्ट्स और डॉक्टर की सलाह जरूर ले। News Or Kami की और से दी गई जानकारी का कोई दावा नहीं किया जा रहा है।

………………………………

अगर आप भी ज्यादा सोचते है तो हो जाए अलर्ट, वरना इन गंभीर बीमारियों से हो जाओगे ग्रस्त

अक्सर कहा जाता है कि जो व्यक्ति ज्यादा सोचता है वह हमेशा सोचता ही रहता है लेकिन कुछ कर नहीं पता लेकिन क्या कभी आपने सोचा है की ज्यादा सोचने से भी दिमाग पर असर पड़ता है और इंसान की सोचने के क्षमता भी कम होती है इसके अलावा ज्यादा सोचने से इंसान कई बीमारियों का शिकार भी हो सकता है अगर नहीं सुना तो आज हम आपको बता ने जा रहे है ज्यादा ओवरथिंकिंग करने से किन-किन बीमारियों का शिकार हो सकते है।

ज्यादा ओवरथिंकिंग बना सकती है आपको इन बीमारियों का शिकार

आपको बता दें, दुनिया में 70% लोग दिन बार कुछ न कुछ सोचते ही रहते है अन्य लोगों के मुकाबले उन लोगों का दिमाग कभी शांत नहीं रहता वह हर वक्त अपने दिमाग में कुछ न कुछ बाते सोचते रहते है। लेकिन क्या आप जानते है पूरा दिन दिमाग में कुछ ना कुछ चलना दिमाग के लिए तो नुकसानदायक है ही लेकिन इसका बुरा असर आपकी सेहत पर भी पढ़ सकता है। क्योंकि ऐसा माना जाता है जब आप अपने दिमाग में कुछ ना कुछ सोचते है तो दिमाग पर बहुत प्रेशर पड़ता है जिसका असर शरीर के बाकी अंग में भी पड़ता है। जिसके कारण आपके शरीर के हार्मोनल पर भी बुरा असर होता है। वही, दिमाग पर स्ट्रेस भी पड़ता है। जिसके कारण आपका दिमाग आपको सही तरह से कुछ काम नहीं करने देता बस एक जगह बैठकर कुछ न कुछ सोचता ही रहता है। यही कारण है आपको भूख, प्यास भी नहीं लगती और नींद पर भी गहरा असर [पड़ता है। ऐसे में आपको कई गंभीर बीमारिया घेर लेती है जिसका पता आपको शुरुआत में नहीं चलता।

ज्यादा सोचने से कौन-कौन सी बीमारिया हो सकती है

हाई बीपी जैसी गंभीर बीमारी हो सकती है ज्यादा सोचने से

आपको बता दें, अगर पूरा दिन आपका दिमाग चलता ही रहे तो आप को हाई बीपी की समस्या हो सकती है। क्योंकि दिमाग पर स्ट्रेस रहने पर शरीर से हार्मोन का प्रोडक्शन बढ़ता है। जिसके चलते ये हार्मोन दिल की धड़कन को तेजी से बढ़ाता है साथ ही, ब्लड वेसेल्स भी तेजी से काम करता है। बता दें, ये प्रतिक्रिया कुछ समय के लिए बीपी को बढ़ा देती है। और यही कारण है जिससे आप हाई बीपी के शिकार बन सकते है।

नींद पूरी नहीं हो पाती

दरअसल ज्यादा सोचने से आपका दिमाग रेस्ट मोड पर नहीं जाता है जिसके कारण आपको नींद नहीं है दिमाग में चलती बाते आपको बेहद ज्यादा परेशान करते है। इसके कारण नींद के हार्मोन में बुरा असर पड़ता है और आपकी स्लीपिंग साइकिल काफी ज्यादा डिस्टर्ब हो जाती है। इसके अलावा आपको इनसोंमिनिया और स्लीप एप्रिया की बीमारी अपना शिकार बना सकती है।

ज्यादा दिमाग चलने से डिप्रेशन के शिकार हो सकते हो

डिप्रेशन के ऐसी बीमारी है जो कि ज्यादा सोचने से ही होती है। हालांकि कई लोग इसको अकेलेपन का नाम भी देते है लेकिन एक्स्पर्ट्स के मुताबिक जब हमारा दिमाग ज्यादा सोचने लग जाता है तब हमें कुछ ऐसी ऐसी बाते भी याद आ जाती है जिससे हमे डिप्रेशन हो सकता है। वही, इसका दूसरा कारण ये भी बताया जाता है की ज्यादा सोचने से आपके ब्रेन के अंदर से सुस्त पढ़ जाता है और उसकी सोचने समझने की क्षमता कम होती जाती है। इसके अलावा ज्यादा सोचने से दिमाग में ज्यादातर बुरी बातें ही याद आती है जिससे इंसान को काफी बुरा लगता है और धीरे-धीरे उसे सबसे अलग करता है। और फिर यही सोच कब दुख में बदल जाती है पता नहीं चलता जिसके चलते आप डिप्रेशन का शिकार हो जाते है।

पर्सनैलिटी डिसऑर्डर से जुड़ी बीमारी हो सकती है

आप को जानकर हैरानी होगी कि ज्यादा सोचने से पर्सनैलिटी डिसऑर्डर का शिकार भी हो सकते है लेकिन हाँ ऐसा हो सकता है। दरअसल जब भी आप ज्यादा सोचते है तो आपके दिमाग में कई ऐसी बातें आ जाती है जिससे आपको काफी डर लगने लगता है और घबराहट भी हो जाती है और कई बार तो भविष्य की चीजों को लेकर आप काफी डिस्टर्ब भी हो सकते है। ये चीज जब गंभीर रूप लेने लगता है तो ये आपके आज पर काफी बुरा असर डलता है जिसके चलते आप पर्सनैलिटी डिसऑर्डर के शिकार हो जाते है तो हमारा कहना यही है की आप जल्द से जल्द इस आदत को छोड़ाए और हेल्थी जीवन बिताए।

इसी भी पढे : हमेशा फिट रहने के लिए करे इन जूसों का सेवन, जानिए इनके कई फायदें

Disclaimer : इस आर्टिकल में लिखी तमाम बातें सामान्य जानकारी के लिए है। इसलिए पाठक पहले एक्स्पर्ट्स और डॉक्टर की सलाह जरूर ले। News Or Kami की और से दी गई जानकारी का कोई दावा नहीं किया जा रहा है।

हमेशा फिट रहने के लिए करे इन जूसों का सेवन, जानिए इनके कई फायदें

हमेशा दिल और दिमाग को तंदूरस्त रखना चाहते हो तो ऐसे फलों के जूस का करो सेवन। जैसा कि आप जानते ही होंगे की आने वाली 29 तारीख को वर्ल्ड हार्ट डे के रूप में मनाया जाता है। तो इसी को लेकर हम आपको बताने जा रहे है कि दिल को फिट रखने के लिए किन-किन फलों के जूस का सेवन करने पर मिलते है लाभ।

बचपन से ही सुनते आ रहे है कि फलों में गजब के नूट्रिशन पाए जाते है इसलिए हमेशा ही खाने के बाद एक फल तो जरूर खाना ही चाहिए जिसके चलते हमारे शरीर तरोताजा और तंदूरस्त रहे लेकिन क्या आप जानते है की फलों के साथ अगर केवल आप उनके जूस का सेवन भी कर लो तो उसके भी कई लाभ मिल जाएंगे। तो आइए जानते है किन-किन जूस का सेवन करने से मिलते है दिल से संबंधी फायदे।

चुकंदर का जूसपीने से मिलते है ये फायदे

आपको बता दें, चुकंदर के जूस का सेवन करने से किसी भी तरह की बीमारी नहीं होती। इसको सेवन करने से एनीमिया के अलावा दिल से जुड़ी भी कोई बीमारी आपको छू भी नहीं सकती बल्कि आपका दिल पुरी तरह से हेल्थी ही रहेता है एक्स्पर्ट्स के मुताबिक इस जूस के रस में भरपूर मात्रा में नाइट्रेट होता है जो की शरीर में ब्लड सर्कुलेशन को सही रखता है साथ ही, इस जूस में पूरी तरह से आक्सिजन भी मिलता है जिसके कारण आपको हार्ट अटैक होने से बचाव करता है।

टमाटर का जूस शरीर से ब्लड कोलेस्ट्रॉल को करता है काम

टमाटर का जूस भी हमारे शरीर के लिए काफी लाभदायक सबित हुआ है। एक्स्पर्ट्स की मानें तो टमाटर का जूस हमारे दिल को काफी एक्टिव रखता है इसके अलावा स्किन, दिमाग को भी काफी फायदे मिलते है बता दें, टमाटर के जूस का सेवन करने से हमारी शरीर में ब्लड कॉलेस्ट्रॉल को करता है कम। वही, हार्ट ब्लड प्रेशर के खतरे को भी ना के बराबर ले आता है और बता दें, इन दोनों का ही नियंत्रण में रहना बेहद ही आवश्यक है इन्ही दोनों के ठीक रहने से हमरा हार्ट हेल्थी माना जाता है। हेल्थ एक्स्पर्ट्स की एक रिपोर्ट से पता चला था की टमाटर में विटामिन B और कही जरूरी पुष्क तत्व मौजूद होते है। जो हमें तमाम तरह की बीमारियों से बचाते है।

अनार के जूस भी दिल को तंदूरस्त रखने के लिए है काफी फायदेमंद

अनार का जूस भी है काफी लाभदायक बता दें, दिल कि बीमारियों को दूर रखने में अनार का जूस की काफी महत्वपूर्ण भूमिका है। दरअसल इसमें एंटीऑक्सीडेंट है जिसके कारण दिल को हमेशा बीमारियों से दूर रखता है वही, बताया जाता है इसमें विटामिन सी और विटामिन ई की भरपूर मात्रा है। जिसके चलते दिल के साथ-साथ स्किन और शरीर और भी कई पार्ट्स में फायदा देखने को मिलता है यहा तक कि अनार अनार के जूस में पुनिकिक एसिड भी होता है और ओमेगा-5 पॉलीअनसेचुरेटेड फैटी एसिड ही शामिल है, जो हमारे बॉडी के सेल्स के निर्माण और ग्रोथ में मदद करता है। इसके अलावा अनार का जूस ब्लड वेसेल्स की सूजन को भी खत्म करता है।

इसी भी पढे : आपके बाल तेजी से झाड़ रहे है तो लगाए प्याज का रस, इन चीजों का करेंगे इस्तेमाल तो जल्द दिखेगा चमत्कार

Disclaimer : इस आर्टिकल में लिखी तमाम जानकारी को इस्तेमाल करने से पहले पाठक एक्स्पर्ट्स और डॉक्टर से सलाह लेले फिर ही अमल करे इन बातों का news or kami की और से दी गई जानकारी का कोई दावा नहीं किया जा रहा।

क्या गुड-घी खाने से कब्ज में मिलती है राहत, जाने पूरी सच्चाई?

कब्ज से है परेशान तो सबसे पहले जानिए इसके कारण क्योंकि कब्ज होने के पीछे सिर्फ एक कारण नहीं है। इसी के साथ हम आपको आज बताएंगे कब्ज से जल्द राहत पाने के कुछ आयुर्वेदिक उपाय।

अगर आप भी है कब्ज की समस्या से परेशान तो पहले जानिए कि आखिर कब्ज होने के प्रमुख कारण क्या है क्योंकि कब्ज किसी एक कारण से नहीं होती उसके पीछे कई कारण होते है। वही, डॉक्टरों से लेकर हेल्थ एक्स्पर्ट्स का भी यही मानना है कि पहले तो कब्ज होने के कारण जानिए और सकथ ही, अपने डाइट में भरपूर मात्रा में फाइबर और पुष्क तत्व शामिल करे। बता दें कब्ज एक खराब पाचन होने का संकेत है जो कि किसी भी कारण से हो सकती है। इसलिए हेल्थ एक्स्पर्ट्स हमेशा यही सलाह देते है कि जिनको भी हर दो,तीन दिन में कब्ज की परेशानी हो उन्हे हमेशा अपने डाइट में आयुर्वेदिक और नेचुरल हर्बस सहित ऑर्गैनिक चीजों का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करे।

कब्ज को हमेशा के लिए खत्म करने के लिए कुछ खास उपाय जानिए

आपको बता दें, अगर हर दूसरे दिन आपको कब्ज कि समस्या होती है तो रोजाना दोपहर के खाने के बाद गुड के साथ घी का सेवन अवश्य करे इसे बहुत जल्द असर देखने को मिलेगा और 1 महीने में ही कब्ज की समस्या से राहत मिल जाएंगी।

3 से 4 बजे के बीच एक केला या तरबूज का सेवन जरूर करे हेल्थ एक्स्पर्ट्स के मुताबिक ये भी बेहद लाभकारी होता है कब्ज की समस्या को दूर करने के लिए।

रात के खाने में रोटी के साथ भाकरी और तिल के बीच रोज खाएं।

आपको बता दें, हेल्थ एक्स्पर्ट्स के मुताबिक जिन लोगों को निरंतर कब्ज कि समस्या अधिक रहती है उनको गुड और घी का सेवन सुबह खाली पेट भी कर सकते है इससे बहुत जल्द रिजल्ट देखने को मिलेगा क्योंकि ऐसा माना जाता है की गुड में फाइबर भरपूर मात्रा में होता है। वही, नानावटी मैक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल मुंबई की मशहूर डाइटीशियन डॉ. उषाकिरण सिसौदिया ने बताया कि जिनको डायबिटीज और किडनी की बीमारी है वह लोग घी और गुड का सेवन ना करे क्योंकि उनकी तबीयत पर इसका बुरा असर पढ़ सकता है।

बारिश में तेजी से बढ़ रहे आई फ्लू के मामले, जानें कैसे करे बचाव इस बीमारी से

हाल ही में राजधानी दिल्ली में आई फ्लू के मामले बढ़ते जा रहे है। जाने आखिर इस मौसम में आई फ्लू के मामले क्यों आते है सामने, दरअसल बरसात आते ही आँखों में चुभन, पानी निकलना, आँखों में दर्द शुरू हो जाता है। जो की आँखों के लिए बिल्कुल सही नहीं है तो आइए जानते है इसके बारे में पूरी जानकारी।

आई फ्लू ऐसा वायरस है जो की हमेशा से बारिश के मौसम में ही आता है। अमूमन बारिश के मौसम में ही इस बीमारी के बारे में सुनने और देखने को मिलता है। एक्स्पर्ट्स के मुताबिक हाल ही में ये बीमारी कई राज्यों में फाइल चुकी है इस बीमारी से राज्य के तमाम लोग परेशान है।

वही अगर दिल्ली की बात की जाए तो ऐसी खबर है की दिल्ली अब पिछले कुछ दिनों से आई फ्लू के काफी मामले सामने आ चुके है और अब भी आई फ्लू से लोग संक्रमित हो रहे है। बता दें दिल्ली के एम्स अस्पताल में रोज के 100 से अधिक मामले आई फ्लू के ही आते है। आई फ्लू क्या है और कैसे आता है इसी कैसे बचे इस बारे में भी जान लीजिए।

आई फ्लू क्या है ?

आपको बता दें बेंगलुरू के फोर्टिस हॉस्पिटल के सीनियर कॉनसल्टेंट डॉ आदित्य एस. चौती के मुताबिक आई फ्लू में आँख में सफेद वाला हिस्सा लाल हो जाता है, दरअसल वहा सूजन हो जाती है जिससे आँख में काफी दर्द होता है, आई फ्लू में आँखों में बैक्टरिया घुस जाते है।

आई फ्लू फैलता कैसे है ?

आई फ्लू बेहद ही खतरनाक वायरस जिसमें सिर्फ संक्रमित व्यक्ति की आँखों में देखने से ही दूसरे व्यक्ति को हो जाता है। हालांकि कई ऐसे भी मामले है, जिसमें संक्रमित व्यक्ति आई फ्लू के दौरान अपने आँखों पर हाथ लगता रहता है और फिर बिना हाथ धोए दूसरे व्यक्ति को हाथ लगा दे तो तुरंत ही दूसरा व्यक्ति भी आई फ्लू की चपेट में आ जाता है।

आपको बता दें एक्स्पर्ट्स द्वारा बताया गया है की, जिस व्यक्ति को आई फ्लू है उस शख्स से कुछ समय के लिए दूरी बना ले और उसके हाथ लगाए चीजों को छूने से बचे जैसे की तौलिया, रुमाल, टॉइलेट की टोंटी, दरवाजे का हैन्डल, मोबाईल और बाकी चीजों को छूने से बचे साथ ही, जब तक व्यक्ति का आई फ्लू ठीक नहीं होता तब उस व्यक्ति की आँखों में भी नहीं देखे।

आई फ्लू के लक्षण ?

डॉक्टर्स की माने तो आई फ्लू के लक्षण दिखते ही तुरंत डॉक्टर के पास चले जाना चाहिए। जिससे आपकी आँखों का सही समय इलाज हो जाए और आगे जाके ज्यादा परेशान ना हुए, आई फ्लू में आंखे लाल हो जाती है, आँखों से पानी निकलाता रहता है और कभी-कभी तो आँखों के आसपास डिस्चार्ज या पपड़ी भी हो सकती है। आई फ्लू के लक्षण नजर आते ही डॉक्टर से मिल लेना चाहिए अगर डॉक्टर को आपको आँखों में आई फ्लू के लक्षण नजर आया तो डॉक्टर आपके लिए एक एंटीबायोटिक आई ड्रॉप लिख सकते है।

इसी भी पढे : हिंडन नदी ने नोएडा, गाज़ियाबाद में मचाया तहलका, बढ़ते जलस्तर की वजह से हजारों लोगों ने छोड़े अपने घर, पार्किंग में खड़ी गड़िया बाढ़ के पानी में डूब गई

कैसे करे आई फ्लू से बचाव ?

बता दें वैसे तो आई फ्लू अमूमन अपने आप ही ठीक हो जाता है, लेकिन इस बीच आँखों साफ रखना बेहद ही जरूरी है साथ ही आई फ्लू के दौरान इलेक्ट्रानिक्स डिवाइस से बचे और जितना हो सके आँखों आराम दे साथ ही, कॉन्टेक्ट लेंस लगाने से भी बचे, वही घर के बाकी सदस्यों को भी अपने आप को साफ सुथरा रखना चाहिए साथ ही संक्रमित व्यक्ति के कान्टैक्ट करने से बचे तो वही संक्रमित व्यक्ति को भी अपने आप को साफ-सुथरा रखना है, आई फ्लू के दौरान बार-बार आँखों पर हाथ ना लगाए चाहे कितनी खुजली या दर्द हो जितना हो सके उतना पानी से धोते रहे आँखों को और हमेशा कला चश्मा पहने रखे

बारिश के मौसम में ज्यादा देर तक रखे हुए खाना खाने से बचे, नहीं तो हो जाएगी मुसीबत, ज्यादातर लोग करते है लापरवाही

ऐसा कहा जाता है की हमेशा खाना फ्रेश ही खाए, ज्यादा देर से रखा हुआ खाना खाने से सेहत पर बुरा असर पढ़ सकता है। इसलिए हमेशा ही फ्रेश खाना खाना चाहिए। इसके अलावा अब बारिश का दौर शुरू हो गया है तो खाने को लेकर ज्यादा सावधानी बरतने की आवश्यकता है। बारिश के मौसम में जितना हो सके उतना बाहर के जंक फूड समेत तले हुए पदार्थ खाने से बच्चे सिर्फ घर का बना शुद्ध खाना ही खाए जिससे आपके स्वास्थ्य को किसी भी तरह की तकलीफ ना हो। हालांकि अधिकतर लोग बारिश के मौसम में ऐसी लापरवाही कर ही देते है।

शरीर को फिट रखने के लिए अच्छा खानपान बेहद ही जरूरी है। अच्छा खाने से हमें और हमारे शरीर को एनर्जी और जरूरी प्रोटीन प्राप्त होते है। जबकि बारिश के मौसम में तो खानपान का ज्यादा ध्यान रखना चाहिए क्योंकि बारिश में लोगों के बीमार होने का खतरा ज्यादा बढ़ जाता है। लेकिन ज्यादातर लोग इस मौसम में ही अपने स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करते है बाहर का जंक फूड और तले हुए पदार्थों को खाके जो की पता नहीं फ्रेश भी होते या नहीं। हालांकि नुकसान सिर्फ बाहर के खाने से ही नहीं बल्कि घर में ज्यादा बासी रखे हुए खाने से भी हो सकते हो इसलिए घर में भी हमेशा एकदम ताजा खाना बनाकर खाना चाहिए।

बारिश के मौसम में बासी खाने से बचे

आपको बता दें बारिश के मौसम में हवा में भी नमी हो जाती है जिससे ना मालूम कितने खतरनाक बैक्टीरिया पनपने का खतरा बढ़ जाता है। इसी के चलते हेल्थ एक्स्पर्ट्स खासतौर बारिश के मौसम फ्रेश खाने की सलाह देते है। बारिश के मौसम मे तो बिल्कुल ही बासी खाना नहीं खाना चाहिए।

अब सवाल ये है की कितनी देर तक का रखा हुआ खाना नहीं कहा सकते तो आइए इसका जवाब डाइटीशियन से ही जान लेते है।

इसी भी पढे : युवक को किडनैप कर चलती कार में की मारपीट फिर आरोपी ने चटवाए तलवे, वायरल हुआ वीडियो, MP से सामने आया एक और मामला

जानिए क्या-क्या नुकसान है बासी खाने से

नोएडा के डाइट मंत्रा की फाउंडर डाइटीशियन कामिनी सिन्हा के मुताबिक वैसे तो किसी भी मौसम में बासी खाना नहीं खाना चाहिए। चूंकि बासी खाने से धीरे-धीरे पेट से जुड़े दिककते पैदा हो सकती है। हालांकि बारिश के मौसम में सबसे ज्यादा सावधान रहना चाहिए, डाइटीशियन के मुताबिक इस मौसम में 3 घंटे से ज्यादा देर तक रखा हुआ खाना खाने से बचे ताजा खाना ही खाए खासतौर से बारिश के मुसम में और वो भी उन फूड को जो बहुत जल्दी खराब हो जाते है, उन्हे जितना जल्दी हो सके उन्हे खा लेना चाहिए। आगे उन्होंने बताया की ज्यादा देर तक खाने को रखने से उसके कँटामिनेटिड होने की खतरा बढ़ जाता है। जो की पेट में इन्फेक्शन और फूड पॉइसिंग की वजह बन सकता है। साथ ही, आप लोगों को खाना बनाते समय साफ सफाई का ध्यान भी रखना चाहिए और हमेशा ही फ्रेश खाना ही खाना चाहिए।

Exit mobile version